Breaking News

J-K: कुलगाम में सेना ने एनकाउंटर में मार गिराए 2 आतंकी, घरवालों के कहने पर भी नहीं किया सरेंडर

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने बड़ी सफलता हासिल की है। सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। पुलिस ने इनके पास से भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद किया है। दरअसल, कुलगाम के वानपोरा में 2 से 3 आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी की। सेना, SOG और सीआरपीएफ संयुक्त रूप से आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया और इलाके को घेल लिया था। सुरक्षाबलों ने आतंकियों से सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और दो आतंकियों के मार गिराया। फिलहाल गोलीबारी बन्द है पर तलाशी अभियान जारी है क्योंकि ऐसी खबर है कि मारे गए आतंकियों का तीसरा साथी भी था।

Jammu and Kashmi An encounter breaks out between terrorists and security forces in Wanpora area of Kulgam district

इससे पहले सुरक्षाबल मुठभेड़स्थल पर आतंकियों के घरवालों को भी बुलाकर लाए थे। आतंकियों के घरवालों ने अपील की थी कि वे सेना के सामने खुद को सरेंडर कर दें। घरवालों के मनाने के बाद भी आतंकियों ने सरेंडर करने से मना कर दिया, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने उन्हें ढेर कर दिया।

लॉकडाउन और कोरोना संकट के दौरान भी घाटी में आतंकवादी घटनाएं कम नहीं हुई हैं। आतंकी सुरक्षाबलों पर हमला करने और घाटी को अशांत करने की लगातार योजना बना रहे हैं। गुरुवार को भी सुरक्षाबलों ने ऐसी ही एक आतंकी घटना को पुलवामा में नाकाम किया था।

Loading...

doda encounter

कश्मीर घाटी में पाकिस्तान लगातार अस्थिरता फैलाने की कोशिश कर रहा है। जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को पुलवामा जैसे आतंकी हमले की साजिश रची गई थी, जिसे सुरक्षाबलों ने नाकाम किया। अगर सुरक्षाबल सही वक्त पर अपने मिशन को अंजाम नहीं देते एक बार फिर पुलवामा अटैक दोहराया जा चुका होता।

सूत्रों का दावा है कि इस हमले के पीछे कुख्यात ग्लोबल आतंकी मसूद अजहर के भतीजे मोहम्मद इस्माइल उर्फ फौलजी बाबा का भी नाम सामने आ रहा है। मोहम्मद इस्माइल एक इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) एक्सपर्ट है। आतंकी घटना में अब उसकी भूमिका की भी जांच की जा रही है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/