Breaking News

अमेरिका में 108 साल महिला ने दी कोरोना को मात, 1918 में इस खतरनाक बीमारी का भी किया था सामना

न्यूजर्सी। कोरोना वायरस के चलते दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका में हुई हैं। यह बीमारी ज्यादातर बुजुर्गों को अपना शिकार बना रही है, लेकिन दो आंखें ऐसे भी हैं जो सदी पार करने के बाद भी अभी बहुत कुछ देखने की हिम्मत रखती हैं। 108 साल की सिल्विया गोल्डशोल 1918 के फ्लू से लेकर कोरोना वायरस की त्रासदी तक की गवाह बन चुकी हैं और अब वह खुद को एक सर्वाइवर बताती हैं।

अमेरिका के न्यूजर्सी में ऐलेनडेल में एक नर्सिंग होम में रहने वाली सिल्विया ने कोरोना को मात दी तो वह एक वॉरियर भी बन चुकी हैं। जब 1918 में स्पैनिश फ्लू आया था, उस वक्त सिल्विया 7 साल की थीं। उस फ्लू में करीब 5 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी।
इटली में ठीक हुई थीं 104 साल की महिला

Loading...

इससे पहले इटली की अदा जोनुसो को कोरोना को हराने वाली दुनिया की सबसे ज्यादा उम्र की महिला माना जा रहा था। 104 वर्षीय अदा 17 मार्च को उत्तरी इटली बीला इलाके में बीमार हो गई थीं। अदा के बेटे ने बताया था, मुझे लगा कि यह कोरोना वायरस है क्योंकि केयर होम में नंबर बढ़ते जा रहे थे। वहां कुछ लोगों की मौत भी हुई थी। अदा के ठीक होने से बुजुर्ग मरीजों में भी एक उम्मीद जगी थी।

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/