Breaking News

Lockdown 3.0: पुलिस पर थम नहीं रहा जनता का अत्याचार, एक के बाद एक पुलिकर्मी हो रहे शिकार

पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस ( coronavirus ) से जूझ रहा है. आलम ये है कि लॉकडाउन ( Lockdown 3.0 ) के बावजूद कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. वहीं, दूसरी ओर लोगों की रक्षा में जुटे पुलिसवालों ( Police Officers ) पर भी जनता का अत्याचार लगातार बढ़ता जा रहा है. लॉकडाउन में पंजाब ( Punjab ) से दूसरी ऐसी घटना सामने आई है, जिसने सबको झकझोर दिया है. जालांधर ( Jalandhar ) में लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन को लेकर पंजाब पुलिस में ASI ने जब एक कार रुकवाई, तो चालक ने बड़ी बेरहमी से एएसआई को बोनट से घसीट लिया. वीडियो सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है.

नाबालिग है आरोपी

लॉकडाउन के कारण सारे देश में सुरक्षा व्यवस्था बहुत ज्यादा कड़ी है. जगह-जगह पुलिस की बेरिकेडिंग लगी है  गहन चेकिंग हो रही है. इसी कड़ी में जालांधर के मिल्क चौक पर पुलिसवालों ने एक गाड़ी को रुकने का संकेत किया. पुलिस ने जैसे ही संकेत किया तो युवक अपनी कार के बोनट पर एएसआई मुल्ख राज को घसीटता हुआ ले गया. एडिशनल एसएचओ गुरदेव सिंह ने तुरंत गाडी़ का पीछा किया  कुछ दूर जाने के बाद गाड़ी को रोका जा सका. इसके बाद पुलिसवालों ने एएसआई को बोनट से नीचे उतारा. वहीं, हमलावर की आयु 19 वर्ष बताई जा रही है. यानी कि वह एक नाबालिग है.

जानकारी जुटाने में जुटी पुलिस

पुलिस ने तुरंत आरोपी नाबालिग को गिरफ्तार किया  उससे पूछताछ प्रारम्भ कर दी है. एसएचओ सुरजीत सिंह का बोलना है कि आरोपित लड़का घर से बाहर क्यों आया था  उसने नाके पर रोके जाने के बावजूद गाड़ी क्यों भगाई, इन सबके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है. वहीं, इस घटना के बाद आरोपी के परिजनों को भी थाने बुलाया गया है  सारी सच्चाई जानने की प्रयास की जा रही है.

Loading...

पटियाला में पुलिसकर्मी की कटी थी कलाई

गौरतलब है कि यह कोई पहला मुद्दा नहीं है. इससे पहले 12 अप्रैल को पंजाब के ही पटियाला ( Ludhiyana ) में एक पुलिसकर्मी का हाथ काट दिया गया था. दरअसल, पटियाला सनौर रोड स्थित सब्जी मंडी में जा रहे निहंग सिंहों को पुलिस ने रोका था. पुलिस ने उन सबसे कर्फ्यू पास मांगा. इसी बात पर निहंगों ने पुलिस पर हमला बोल दिया. कई पुलिस वाले घायल हो गए थे. इस हमले में एक एएसआई की कलाई कटकर अलग हो गई थी. इस हमले में थाना सदर प्रभारी बिक्कर सिंह  एक अन्य मुलाजिम भी घायल हो गए थी. कलाई कटने से जख्मी हुए एएसआई की हालत गंभीर होने के कारण पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया था. हालांकि, अब वह अपने घर लौट चुके हैं. लोगों ने उनका जमकर स्वागत किया था.

यूपी में भी पुलिसकर्मी पर हुए थे हमले

इससे पहले लॉकडाउन के दौरान यूपी ( Uttar Pradesh ) के मुजफ्फरनगर में कुछ दंबगों ने पुलिसवालों पर हमला कर दिया था. जानकारी के मुताबिक, मोरना पुलिस चौकी प्रभारी लेखराज  2 पुलिसवालों रवि  जितेंद्र को कुछ लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा. ये सभी आरोपी लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे थे, जब पुलिस ने उन्हें रोकने की प्रयास की तो दबंगों ने उनपर हमला बोल दिया. दबंगों पुलिसवालों पर लाठी , डंडो, लोहे की रॉड  पत्थरों हमले किए. इस हमले में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए थे. इनके अतिरिक्त लॉकडाउन के दौरान कई  जगहों पर आम पब्लिक ने पुलिसवालों पर हमले किए. ऐसे में लॉकडाउन के दौरान जिस तरह पुलिसवालों पर हमले वो रहे हैं, वह चिंता का विषय है. क्योंकि, अगर पुलिसकर्मी ही सुरक्षित नहीं रहेंगे तो जनता कहां से सुरक्षित रहेगी? साथ ही जिस तरह से उनके साथ अमानवीयता की जा रही है, उसने कहीं न कहीं मानवता को शर्मसार कर दिया है.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/