Breaking News

आज से खत्म हो जाएंगे ये 6 बड़े बैंक, ग्राहकों पर सीधा पड़ेगा ये असर

1 अप्रैल यानी आज से नए वित्त वर्ष की शुरूआत हो चुकी है। जिसके बाद देश में कई बड़े कानूनों में बदलाव हुए है। देश में टैक्स से लेकर बैंकिंग सेक्टर में कई बड़े नियम लागू हुए है। इतना ही नहीं, आज से 10 बड़े बैंको का विलय भी प्रभावित हो रहा है। जिसमें 6 सरकारी बैंकों की पहचान की पूरी तरह खत्म की जा रहा है। इन बैंकों में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, आंध्र बैंक, कॉपरेशन बैंक, इलाहाबाद बैंक, सिंडिकेट है। जिसके बाद अब ग्राहकों के मन में ये सवाल उठ रहे है कि उनके अकाउंट पर क्या असर होगा।

दरअसल देश के 6 सरकारी बैंकों का अन्य 4 बैंक में वियल हो रहा है। जिसकी वजह से इन 6 बैंकों की पहचान खत्म हो जाएगी। इसमें ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइडेट बैंक ऑफ इंडिया का पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में विलय हो जाएगा। इसी तरह सिंडीकेट बैंक का केनरा बैंक में विलय किया जाएगा। आंध्र बैंक और कॉपरेशन बैंक का यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में विलय किया जा रहा ह। वही, इलाहाबाद बैंक का इंडियन बैंक में विलय किया जाएगा।

ग्राहकों पर क्या होगा असर

Loading...

विलय के बाद ग्राहकों को नया खाता नंबर और कस्टमर आईडी मिल सकती है। इसी के साथ ग्राहकों को नया चेकबुक भी दिया जा सकता है इसके अलावा बैंक अन्य चीजों जैसे मोबाइल नंबर, इमेल आईडी में भी बदलाव कर सकता है लेकिन ग्राहकों को ये सब चीजें एक साथ नई नहीं मिलेगी। बैंक इन चीजों में धीरे-धीरे बदलाव करेगा। ताकि ग्राहकों को परेशानी का सामना न करना पड़े। इसी तरह लोन, एसआईपी, शेयर और ईएमआई भी ग्राहकों की पहले जैसे ही चलती रहेगी। इस पर सब लीडर निगरानी रखेंगे। तो वही एटीएम पर लीडर निगरानी रखेंगे। बता दें कि साल 2017 में सार्वजनिक क्षेत्र में 27 बैंक थे। लेकिन इस विलय के बाद देश में 7 बड़े बैंक ही रह जाएंगे। जिसके बाद अब देश में बैंकों की संख्या 18 से घटकर 12 बैंक रह गए।

 

Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/