Breaking News

पत्नी पर था शक तो उसका मर्डर कर इस हैवान पति ने धारण किया मंदिर में महंत का रूप व…

वर्ष 2019 में दीपावली की परेवा के दिन 30 वर्षीय पत्नी सीमा की हत्याकर फरार हुआ आरोपित पति कुलदीप मिश्रा मंदिर में महंत बनकर छिप गया था। पुलिस ने उसपर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था, शनिवार को उसे बांदा के एक मंदिर से गिरफ्तार करने के बाद निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त चाकू बरामद किया। उसने अपने एक दोस्त से सीमा के नाजायज संबंधों का शक में हत्या करने की स्वीकारोक्ति की।

पनकी में ढाबा चलाता था आरोपित

दुर्जनपुर गांव के जंगल में पिछले साल 28 अक्टूबर की सुबह बैगनी रंग की साड़ी पहने एक महिला का शव मिला था। उसके गले पर धारदार, नुकीले हथियार से कई वार किए गए थे। अगले दिन महिला की पहचान गल्लामंडी नौबस्ता निवासी उमाशंकर सिंह की बेटी सीमा के रूप में हुई। मां रामश्री और छोटी बहन पूनम ने बताया कि 27 तारीख को सीमा पनकी में ढाबा चलाने वाले पति कुलदीप से मिलने गई थी। उन्होंने कुलदीप व उसके साथियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

पहली पत्नी से था विवाद, सीमा से की थी कोर्टमैरिज

कुलदीप की पहली शादी 10 वर्ष पूर्व गल्ला मंडी निवासी पिंकी से हुई थी। उससे दो बच्चे हैं, लेकिन विवाद होने पर पिंकी, बच्चों संग अलग रहने लगी। इसके बाद सीमा से उसकी मुलाकात हुई। कुछ वर्ष बाद सीमा की शादी फत्तेपुर गांव निवासी महेंद्र के साथ हुई, लेकिन कुलदीप के दबाव में सीमा महेंद्र को छोड़ कुलदीप के साथ रहने लगी। पांच वर्ष पूर्व दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली। कुलदीप के मुताबिक बाद में सीमा के संबंध घर आने वाले उसके एक इंजीनियर दोस्त से हो गए। विरोध किया तो सीमा मायके चली गई। तभी उसने उसकी हत्या कर दी।

Loading...

मंदिर में महंत बनकर छिपा था कुलदीप

एसपी ग्र्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि दो दिन पहले ही कुलदीप पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। सर्विलांस की मदद से पुलिस को कुलदीप का मोबाइल फोन बांदा में सक्रिय मिला। पुलिस टीम बांदा पहुंची तो वहां सोहान स्थित सिद्धबाबा मंदिर में कुलदीप साधु के वेश में मिला। फोटो से पहचान करने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में उसने सीमा की हत्या का जुर्म कबूल कर वारदात में प्रयुक्त चाकू बरामद कराया।

बेटे के कारण पिता ने कर ली थी आत्महत्या

कुलदीप की वजह से 70 वर्षीय पिता रमाशंकर मिश्र की भी जान चली गई। दुर्जनपुर स्थित गांव में उन्होंने नीम के पेड़ से फंदा बनाकर फांसी लगा ली थी। उनकी पत्नी राधा, बेटे संदीप व ग्र्रामीणों ने आरोप लगाया था कि पुलिस की प्रताडऩा से तंग आकर रमाशंकर ने जान दी। पुलिस के मुताबिक सीमा की हत्या के सप्ताह भर बाद ही रमाशंकर ने गांव में बदनामी के चलते यह कदम उठाया। पुलिस का कहना है कि आरोपित कुलदीप ने एक बार पिता को भी मारने की कोशिश की थी।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/