Breaking News

हर रोज रद्दी पर कुछ लिखता था भिखारी, एक दिन लड़की ने पढ़ लिया फिर जो हुआ ….

कभी रेलवे स्टेशन पर तो कभी सड़कों के किनारे बैठकर पूरा दिन भीख मांग रहा था. हर कोई निकल जाता था लेकिन किसी की भी नजर उस पर नहीं जाती थी और जब जाती थी तो लोग कुछ खाने-पीने को दे देते थे. कभी-कभी तो भूखा भी सो जाता था. भिखारी ने कपड़े इतने गंदे पहने हुए थे कि कोई उसे छूना तो छोड़ो पास जाना भी मुनासिब नहीं समझ रहा था लेकिन ये महिला ना केवल उसके पास गई बल्कि उसके माथे को भी चूमा. सच्चाई आपको भावुक कर देगी.

ये घटना ब्राजील के साओ पाउलो शहर की है, जहां रोजाना इस सड़क से निकलने वाली महिला एक भिखारी को नोटिस करती थी. महिला देखती थी कि भिखारी भीख मांगने के अलावा हर रोज रद्दी पर कुछ लिखता है. लगातार भिखारी को ऐसा करते देख एक दिन महिला ने अपने ऑफिस से छुट्टी लेकर भिखारी के पास समय बिताया. महिला ने काफी हिम्मत करके उससे बात की कि आखिर वो हर रोज क्या लिखता है?

महिला का बस इतना पूछना था फिर क्या था भिखारी ने अपनी रद्दी महिला को थमा दी. महिला ने देखा भिखारी ने कई कविताएं लिखी थीं जो वाकई में बहुत प्रेरणादायक थीं. महिला ने समझ लिया कि ये व्यक्ति किसी वजह से इस हालत में पड़ा है वरना इसके अंदर खूब टैलेंट भरा हुआ है. महिला ने हर रोज भिखारी से कविता लेना शुरू कर दिया.

Loading...

महिला रोज़ उन कविताओं को अपने फेसबुक पेज पर शेयर करती थी जिनका काफी अच्छा रिस्पोंस मिलने लगा. महिला ने फिर उसका अलग पेज बना दिया, महिला को भी यकीन नहीं था कि भिखारी की कविताओं को लोग इतना पसंद करेंगे. एक महीने में ही उस पेज के करीब 1 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हो गये. भिखारी कुछ ही दिन में स्टार बन गया.

महिला ने युवक के साथ एक फोटो भी शेयर की. जिसके बाद युवक के घरवालों ने उसे पहचान लिया और घर मिलने की खुशी में युवक भी ठीक हो गया. फेसबुक पर राइमुंडो की तस्‍वीरों को देख उसके भाई ने उसे पहचान लिया.

तब पता चला कि राइमुंडो एक व्यापारी था जो मिलिट्री की तानाशाही के दौरान अपने घर से बिछड़ गया था और पैसों के आभाव में उसका ये हाल हो गया था. राईमुंडो से मिलने उनके कई फैन्‍स अकसर आते रहते हैं . वो अब अपने परिवार के साथ रहते हैं. हाल ही में उनका 80वां बर्थडे मनाया गया.

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/