Breaking News

आजीवन कारावास की सजा काट रहे तीन कैदियों की अचानक जेल में हुई मौत, लोगो में मचा हड़कंप

सेंट्रल जेल और जिला जेल में तीन कैदियों की अचानक मौत के बाद हड़कंप मच गया है। रामचंद्र, राम अवतार, हरिद्वारी लाल अलग-अलग मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे, लेकिन बीमारी की वजह से इनकी मौत हो गई। पुलिस ने तीनों का पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया है।

रविवार को जिला जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे बहेड़ी के गांव नदेली निवासी 90 वर्षीय हरिद्वारी और सुभाषनगर क्षेत्र के गांव बेहटा जागीर निवासी 58 वर्षीय रामअवतार की मौत हो गई थी।

इसी दिन सेंट्रल जेल में सजा काट रहे पीलीभीत के मोहम्मद गांज निवासी झाला गैंग के बदमाश 80 साल के रामचंद्र की मौत हो गई थी। मामला सामने आने के बाद शासन स्तर से डीएम-एसएसपी से जवाब-तलब किया गया।

पोस्टमार्टम में मौत की वजह फेफड़े की बीमारी, हार्ट अटैक वजह बताई गई है। तीनों कैदियों की मौत के मामले में जेल प्रशासन ने डीएम को पत्र भेजकर स्थिति से अवगत कराया है। अब डीएम यहां मजिस्ट्रेट स्तरीय जांच कराएंगे। इसके लिए अधिकारी नामित किए जाएंगे। एसएसपी ने बताया कि तीनों कैदियों की मौत एक दिन होने से गफलत रही, ऐसी कोई वजह नहीं थी जो सवाल उठें। मृतकों के परिवारों की भी कोई शिकायत नहीं है।

Loading...

बता दें कि पीलीभीत निवासी रामचंद्र पांच लोगों की हत्या के मामले में सेंट्रल जेल मे बंद था। कोर्ट ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, लेकिन पिछले कुछ महीने से वह बीमार चल रहा था। उसका लखनऊ में इलाज भी कराया गया था, लेकिन देर शाम उसकी मौत हो गई।

वहीं दूसरे कैदी का नाम राम अवतार था, 55 वर्षीय राम अवतार को सुभाष नगर इलाके में हुए मर्डर के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। वो जिला जेल में बंद था।

तीसरे कैदी हरिद्वारी को भी हत्या के मामले में ताउम्र कैद की सजा हुई थी। वो भी जिला जेल में सजा काट रहा था. लेकिन बीमारी की वजह से दोनों की जेल में ही मौत हो गई।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/