Breaking News

ये है टीम इंडिया का एकमात्र क्रिकेटर, जिसे सरकार की तरफ से मुफ्त में मिलती हैं वीवीआईपी सुविधाएं

भारतीय क्रिकेट टीम का हर खिलाड़ी हर साल करोड़ों और अरबों रुपये की कमाई करता है। इस कमाई पर वह सरकार को टैक्स भी देता है। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर कभी भारत के टॉप 10 टैक्सपेयर्स की सूची में आते थे, हालांकि अब ऐसा नहीं है। अब कई क्रिकेटर्स उनसे ज्यादा पैसा कमाते हैं और टैक्स भरते हैं। इनमें विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी जैसे नाम आते है।

लेकिन भारतीय टीम के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को कई वीवीआईपी सुविधाएं सरकार की तरफ से मुफ्त में मिलती है और ऐसा भारत सरकार की ओर से दी जाने वाली विशेष सुविधा के अंतर्गत किया जाता है।

आखिर क्यों सचिन को मुफ्त में मिलती है VVIP सुविधाएँ 

भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर भारत का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित हो चुके हैं। उन्हें ये सम्मान साल 2013 में भारत सरकार के द्वारा दिया गया। यह सम्मान पाने वाले सचिन पहले खिलाड़ी भी हैं। नियम के अनुसार भारत रत्न पाने वाले व्यक्तियों को भारत सरकार की ओर से कई वीवीआईपी सुविधाएं मुफ्त में दी जाती हैं।

जानिए सचिन को मिलती हैं क्या-क्या सुविधाएं ?

सबसे पहले आपको बता दें कि इस सम्मान को पाने वाले व्यक्ति को कोई भी रकम नहीं दी जाती। सचिन या भारत रत्न पाने वाले किसी भी व्यक्ति को निम्नलिखित सुविधाएं मिलती हैं-

1. फ्री यात्रा करने की सुविधा

भारत रत्न पा चुके किसी भी व्यक्ति को मुफ्त में रेलवे की यात्रा करने की सुविधा मिलती है। वह रेलवे के किसी भी कोच में मुफ्त यात्रा कर सकता है। इसके अलावा दिल्ली सरकार उस व्यक्ति को मुफ्त बस सेवा भी प्रदान करती है।

Loading...

2. प्रमाण पत्र के साथ मिलता है तमगा

इस सम्मान को पाने वाले व्यक्ति को एक प्रमाणपत्र और तमगा दिया जाता है। इस तमगे पर सूर्य बना होता है और बैकग्राउंड में पीपल पत्ते की आकृति होती है। इस तमगे पर भारत रत्न लिखा होता है और यह सम्मान राष्ट्रपति के द्वारा दिया जाता है।

3. वॉरंट ऑफ प्रेसिडेंट में मिलती है जगह

भारत रत्न पाने वाले व्यक्ति को सरकार ‘वॉरंट ऑफ प्रेसिडेंट’ में जगह देती है। यह एक तरह का प्रोटोकॉल होता है। जब प्रोटोकॉल को फॉलो किया जाता है, तब उन्हें राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, पूर्व राष्ट्रपति, उपप्रधानमंत्री, मुख्य न्यायधीश, लोकसभा स्पीकर, कैबिनेट मंत्री, मुख्यमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्री और संसद के दोनों सदनों में विपक्ष के नेता के बाद जगह मिलती है।

4. विजिटिंग कार्ड पर लिख सकते हैं सम्मान का नाम

इस सम्मान को प्राप्त व्यक्ति अपने विजिटिंग कार्ड पर इस सम्मान का नाम लिख सकता है। हालांकि, इसके लिए एक खास तरीका होता है। वे अपने कार्ड पर राष्ट्रपति द्वारा भारत रत्न से सम्मानित या भारत रत्न प्राप्तकर्ता ही लिख सकते हैं।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/