Breaking News

यहाँ जानिये डायबिटीज जैसी जानलेवा बीमारी के कारण व इसे जड़ से खत्म करने का उपाय…

डायबिटीज एक ऐसी क्रॉनिक व मेटाबॉलिक विकार है, जिसमें इंसुलिन का स्त्राव कम हो जाने से खून में ग्लूकोज स्तर समान्य से अधिक या कम हो जाता है। डायबिटीज दो तरह की होती हैं, टाइप 1 और टाइप 2।

टाइप 1 डायबिटीज में पैन्क्रियाज की बीटा कोशिकाएं पूरी तरह से नष्ट हो जाती हैं और इंसुलिन बनना कम या बंद हो जाता है। इसे काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है। जबकि टाइप-2 डायबिटीज में शुगर का स्तर बढ़ जाता है, जिसे कंट्रोल करना बहुत मुश्किल होता है, जिसमें व्यक्ति की जान भी जा सकती है।

टाइप 1-2 डायबिटीज के कारण

टाइप-1 डायबिटीज जनेटिक, ऑटो-इम्‍यून व कुछ वायरल संक्रमण के कारण होती हैं। जबकि टाइप-2 डायबिटीज अनुवांशिक, तनावभरी जिंदगी, अनियमित खान-पान, मोटापा, खराब नींद, फिजिकल एक्टिविटी की कमी, ज्यादा एलोपैथी दवाइयों का सेवन और प्रेगनेंसी की दवा के कारण हो सकती है।

अनकंट्रोल शुगर लेवल का क्या होता है नतीजा?

शुगर लेवल बिगड़ने पर आंखों की रेटिना पर असर पड़ता है, जिससे आपको धुंधला दिखाई देने लगता है। इसके अलावा इससे किडनी, शरीर के कोशिकाओं, दिल पर भी बुरा असर होता है। साथ ही शुगर लेवल बढ़ने से इंफेक्शन का खतरा भी बढ़ जाता है।

WHO के अनुसार अगर आप दिनभर में 6 चम्मच शुगर का सेवन कर रहे हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं। क्योंकि शुगर की इतनी मात्रा से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता।

Loading...

क्या खाएं?

. डायबिटीज के मरीज को फाइबर युक्त आहार ज्यादा खाने चाहिए।
. सब्जियों में शिमला मिर्च, गाजर, पालक, ब्रोकली, करेला, मूली, टमाटर, शलगल, कद्दू, तुरई, परवल खाएं।
. दिन में 1 बार दाल और दही का भी सेवन करें।
. फलों में जामुन, अमरूद, पपीता, आंवला और संतरे का सेवन कर सकते हैं।
. साथ ही साबुत अनाज, रागी, फीका दूध, दलिया, ब्राउन राइस भी लें।

क्या नाखाएं?

ज्या फल, फ्रूट जूस, कोल्ड ड्रिंक, किशमिश, प्रोसेस्ड फूड्स, मसालेदार भोजन, चीनी, फैट मीट, व्हाइट पास्ता, सफेद चावल, आलू, चुकंदर, शकरकंदी, ट्रांस फैट और डिब्बाबंद भोजन से परहेज करें।

अब जानते हैं शुगर कंट्रोल करने के कुछ घरेलू नुस्खे…

1. ग्रीन टी में हाई पॉलीफिनॉल होता है, जो एक सक्रिय एंटी-ऑक्सीडेंट है। इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।
2. दालचीनी को महीन पीसकर पाउडर बना लें और उसे गुनगुने पानी के साथ लें। इससे डायबिटीज की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी।
3. सुबह खाली पेट 2-3 तुलसी की पत्तियां चबाएं। आप चाहें तो तुलसी का रस भी पी सकते हैं। इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल होगा।
4. जामुन के बीजों को सुखाकर पीस लें। सुबह खाली पेट इस चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ लें। इससे डायबिटीज कंट्रोल करने में मदद मिलेगी।
5. करेले का जूस व नीम का पानी भी डायबिटीज को जड़ से खत्म कर देता है।
6. अमरुद की पत्तियों को पानी में उबालें और इस पानी का सेवन आप दिन में दो बार करें आपको फर्क दिखेगा।
7. तेजपत्ते को पानी में उबालकर रोजाना सुबह सेवन करें। इससे शुगर कंट्रोल में रहेगी।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/