Breaking News

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बड़ा ऐलान -महाराष्ट्र में लागू नहीं होने दूंगा NRC

देशभर में सीएए, एनआरपी और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है। इसी बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बड़ा ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि वह महाराष्ट्र में किसी भी सूरत में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लागू नहीं करेंगे। शिवसेना के मुखपत्र सामना में अपने साक्षात्कार में उद्धव ठाकरे ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) नागरिकता को छीनने के बारे में नहीं है, यह देने के बारे में है, अगर एनआरसी लागू किया गया, तो हिंदुओं और मुसलमानों दोनों के लिए नागरिकता साबित करना मुश्किल होगा। मैं ऐसा नहीं होने दूंगा। हालांकि उन्होंने सीएए का समर्थन करते हुए कहा कि नागरिकता कानून से किसी नागरिकता नहीं जाने वाली है, बल्कि बाहर से आने वाले हिंदू, सिख, ईसाई, बौद्ध और पारसी को नागरिगता मिलेगी।

शिवसेना सांसद संजय राऊत को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि एनआरसी कानून को महाराष्ट्र में लागू नहीं होने दिया जाएगा। हालांकि मुख्यमंत्री ने नागरिकता कानून पर नर्म रूख रखते हुए कहा कि यह कानून किसी भारतीय नागरिक की सिटीजनशिप नहीं छीनता है। महाविकास अघाड़ी की सरकार के मुखिया उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर हिंदुत्व का नारा बुलंद किया है।

Loading...

इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने साफ कहा है कि शिवसेना ने हिंदुत्व की अपनी विचारधारा को छोड़ा नहीं है और ना ही उससे कोई समझौता किया है। सामना के संपादक संजय राउत को दिए इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा है, गठबंधन किया है, इसका मतलब ये नहीं कि हमने धर्म बदल लिया है। यह इंटरव्यू आने वाली 3, 4 और 5 तारीख को सामना में प्रकाशित किया जाएगा।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/