Breaking News

इमरान के सपोर्ट में उतरी पाकिस्तानी आर्मी, मौलाना को धमकी भरे अंदाज में दी चेतावनी

पाकिस्तान में जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (जेयूआई-एफ) के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान ने प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ आंदोलन छेड़ रखा है। रहमान ने इमरान खान को इस्तीफा देने के लिए रविवार तक का अल्टीमेटम दिया है।

इस बीच इमरान के खिलाफ कई विपक्षी दलों ने भी मौलाना फजलुर रहमान का साथ दे दिया है। शुक्रवार को इस्लामाबाद में आजादी मार्च के दौरान मौलाना ने इमरान खान के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए पाकिस्तान की संस्थाओं पर भी निशाना साध दिया तो पाक आर्मी भड़क उठी है।

मौलाना ने साधा निशाना तो भड़की PAK आर्मी, कहा-हमने दीं बड़ी कुर्बानियां

 

पाक आर्मी के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि मौलाना रैली में आखिर किस संस्था की बात कर रहे थे। क्या वे चुनाव आयोग, कोर्ट या सेना की बात कर रहे हैं? विपक्षी दलों को समझना चाहिए कि आर्मी संविधान और कानून में यकीन रखती है। हम लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकार का समर्थन करते हैं ना कि किसी एक पार्टी का।

Loading...

मौलाना ने साधा निशाना तो भड़की PAK आर्मी, कहा-हमने दीं बड़ी कुर्बानियां

मेजर जनरल आसिफ ने कहा कि पिछले 20 सालों से सेना युद्ध जैसे हालात में रही है और तमाम कुर्बानियां दी हैं। पूर्वी सीमा पर तनाव चल रहा था जबकि आदिवासी बहुल इलाकों में आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन भी चला। आर्मी प्रवक्ता ने मौलाना को धमकी भरे अंदाज में कहा कि देश की स्थिरता से खेलने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी क्योंकि अराजकता किसी भी तरह से राष्ट्रीय हित में नहीं है।

वहीं मौलाना फजुल-उर-रहमान ने भी पाक आर्मी के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि मेजर जनरल आसिफ गफूर ने आर्मी की संवैधानिक और कानूनी भूमिका के बारे में बात करके खुद ही साफ कर दिया कि मैं किस संस्था पर सवाल खड़े कर रहा था। मौलाना ने कहा कि ये बयान आर्मी के बजाय किसी राजनेता की तरफ से आना चाहिए था क्योंकि पाक आर्मी के प्रवक्ता सेना नाम की संस्था का प्रतिनिधित्व करते हैं। आर्मी एक निष्पक्ष संस्था है और उसे इन सब चीजों से दूर रहना चाहिए था।

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!