Breaking News

अगर भी 9 घंटे से ज्यादा सोते हैं तो हो जाए सावधान,हो सकती है ये गंभीर बीमारी

Image result for क्या आप 9 घंटे से ज्यादा सोते हैं तो हो जाए सावधान,हो जाएगी ये गंभीर बीमारी

नींद अपेक्षाकृत निलंबित संवेदी और संचालक गतिविधि की चेतना की एक प्राकृतिक बार-बार आनेवाली रूपांतरित स्थिति है, जो लगभग सभी स्वैच्छिक मांसपेशियों की निष्क्रियता की विशेषता लिए हुए होता है। इसे एकदम से जाग्रत अवस्था, जब किसी उद्दीपन या उत्तेजन पर प्रतिक्रिया करने की क्षमता कम हो जाती है और अचेतावस्था से भी अलग रखा जाता है, क्योंकि शीत नींद या कोमा की तुलना में नींद से बाहर आना कहीं आसान है। नींद एक उन्नत निर्माण क्रिया विषयक (एनाबोलिक) स्थिति है, जो विकास पर जोर देती है और जो रोगक्षम तंत्र (इम्यून), तंत्रिका तंत्र, कंकालीय और मांसपेशी प्रणाली में नयी जान डाल देती है।
अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन, शोधकर्ताओं ने नींद और दिल से संबंधित गतिविधियां पर किए गए अध्ययन की समीक्षा की है। जो लोग 10 घंटे तक सोते हैं उन्हें लंबे समय में नुकसान हो सकता है। इस अध्ययन में 33 मिलियन अंक शामिल हैं।
सात घंटे से कम अच्छी नींद 
जो 9 घंटे से अधिक समय तक सोते हैं, वे कार्डियोवैस्कुलर बीमारी का खतरा बढ़ाते हैं, यानि कार्डियोवैस्कुलर बीमारियां 50%। शोधकर्ताओं के मुताबिक, जो लोग सात घंटे से भी कम समय से सो रहे हैं, उन्हें मृत्यु या हृदय रोग का खतरा नहीं पड़ा।
ऐसा क्यों होता है 
वैज्ञानिकों को वर्तमान में पता नहीं है कि नींद स्वास्थ्य से ज्यादा खतरनाक क्यों है, लेकिन यह सहमति है कि अधिक नींद और कम नींद का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। नींद शरीर में लैक्टिन और गैलन की मात्रा बढ़ जाती है। इससे लोगों को अधिक भूख लगती है और अधिक खाया जाता है और वे इसका शिकार बन जाते हैं, और वे सभी जानते हैं कि अधिक वजन कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों का मूल कारण है।
कौन से लोग अधिक सोते हैं 
शोधकर्ताओं के अनुसार, डिप्रेशन वाले लोगों, खराब सामाजिक स्थिति, बेरोजगारी और कसरत, अधिक नींद की समस्याएं हैं।

Loading...
Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!