Breaking News

हरिद्वार की इन 6 जगहों पर अक्सर नजर आते हैं भूत, NO.1 है सबसे लोकप्रिय जगह

दोस्तो आज हम आपको हमारी इस पोस्ट से हरिद्वार की उन 6 जगहों के बारें में बताते हैं जहाँ अक्सर लोगों को भूत नजर आये हैं। दोस्तो आप हरिद्वार जब भी जाए तो यहाँ बताई जा रही जगहों पर खास सचेत रहें। क्योकि अज्ञानता में आप खुद की जान को जोखिम में डाल सकते हैं। आईये जानते है इन जगहों के बारें में।

haridwar

1. मनसा देवी के जंगल

दोस्तो जब आप मनसा देवी के मंदिर जायेंगे तो आप देखेंगे कि यहाँ रास्ते में काफी जंगल हैं। यहाँ कई बार लोगों ने बताया है कि कुछ खास रातों में बुरी आत्मायें बाहर निकल आती हैं। इसलिए रात को इस जगह पर रुकने की मनाही हैं

2. बिरला घाट

दोस्तो गंगा आरती के लिए वैसे तो यह घाट बहुत ही अधिक मशहूर हैं। यहाँ आने पर आपको वाकई ऐसा लगेगा जैसे आप स्वर्ग में हैं। लेकिन एक समय ऐसा भी होता है जब बिरला घाट पर कुछ प्रेत आत्माएँ ज्यादा शक्तिशाली हो जाती हैं, इसलिए यहाँ समय से ही घूमना चाहिए।

3. विष्णु घाट

दोस्तो विष्णु घाट पर कुछ अजीब तरह की शक्तियां मौजूद रहती हैं ऐसा हमको खुद यहाँ के कई महंत लोगों ने बताया है। दोस्तो असल में पहले यहाँ तांत्रिक क्रियाएँ होती थीं और आज भी उस तरह की शक्तियां यहाँ मौजूद हैंं। यह चीजें किसी को तब तक कुछ नहीं कहती हैं, जब तक कोई इनको बुलाता नहीं है।

Loading...

4. ऋषि आश्रम 

दोस्तो वैसे ऋषि आश्रम तो एक सुरक्षित जगह है, किन्तु इसके चारों तरफ जो जंगल है वह अत्यधिक खतरनाक है। यहाँ अगर आप कभी रात में फंस जाओ तो फिर आपको जल्द से जल्द मदद की जरूरत होगी। यहाँ जिस तरह की गतिविधियों को अंजाम दिया जाता है, वह उस तरह की शक्तियों के लिए उत्तम स्थान बताया जाता है।

5. हरिद्वार से ऋषिकेश जाने वाला रास्ता

दोस्तो जो रास्ता हरिद्वार से ऋषिकेश जाता है वह चारों तरफ से पहाड़ और जंगलों से घिरा हुआ है। यह रास्ता इतना खतरनाक है कि यहाँ अक्सर हादसे होते रहते हैं। लोगों का मत है कि यहाँ पर कई प्रेत शक्तियों का वास है। कभी यह स्थान इन्हीं का था किन्तु आज इस स्थान को इंसान ने घेर लिया है। इसलिए यहाँ रहने वाली आत्मायें इंसान से अधिक नाराज रहती हैं।

6. पिरान कलियर शरीफ

दोस्तो हरिद्वार का यह स्थान भूत और प्रेत आत्माओं के लिए ही मशहूर हैं। यहाँ जाने वाले इंसान को खुद का ध्यान रखना चाहिए। वैसे दरगाह के अंदर तो सब सही रहता है, किन्तु बाहर की हवा में काफी कुछ बताया जाता है।

 

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!