Breaking News

पीरियड्स मिस होने पर प्रेग्नेंसी नहीं बल्कि महिलाओं को हो सकता है इस खतरनाक बीमारी का खतरा, जाने लक्षण

12 से 13 उम्र के बाद अगर लड़कियों के पीरियड्स नहीं शुरु होते हैं, 2-3 महीने के लिए पीरियड्स का आगे टल जाना, हैवी ब्लीडिंग होना, इतना ही नहीं शादी के बाद पीरियड्स मिस होना और अनियमित जैसी कई परेशानियों से महिलाओं को गुजरना पड़ता है. ज्यादातर महिलाओं को पीरियड्स की इन परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

शादी के बाद संबंध बनाने या अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए महिलाएं गर्भनिरोधक की गोलियां भी खाती हैं. गर्भनिरोधक की ज्यादा गोलियां खाने से महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव के साथ उनके पीरियड्स में उतार-चढ़ाव होता रहता है लेकिन हर बार अगर आप पीरियड्स मिस होने की वजह प्रेग्नेंसी मानती हैं तो मुश्किल में पड़ सकती हैं.

जी हां…एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि जब महिलाओं के पीरियड्स मिस हो जाते हैं तो प्रेग्नेंसी का कारण मानकर गर्भनिरोधक गोली खाती हैं, लेकिन हर बार प्रेग्नेंसी नहीं बल्कि कोई गंभीर बीमारी भी हो सकती है. अक्सर जब पीरियड्स के दौरान महिलाओं का खान-पान ठीक ढंग से नहीं हो पाता है तो उनके पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं. इसी तरह से मिस होने पर भी प्रेग्नेंसी नहीं कोई बीमारी का कारण हो सकता है. ऐसे में महिलाएं जांच करवाने बिल्कुल देरी ना करें.

Loading...

शादी के बाद महिलाएं सेक्सुअली रूप से अधिक एक्टिव हो जाती हैं जिससे ज्यादातर महिलाएं रोज सेक्स करने और अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं। इसकी वजह से महिलाओं का मासिक धर्म अनियमित हो जाता है.

गर्भनिरोधक गोलियां हार्मोन्स को गड़बड़ कर देती हैं जिसके कारण शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है और हार्मोन असंतुलन की समस्या उत्पन्न हो जाती है. यही कारण है कि महिलाओं का पीरियड देरी से आता है या मासिक धर्म चक्र अनियमित हो जाता है.

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!