Breaking News

स्वतंत्रता दिवस पर मुसलमानों को झंडा फहराने से क्यूं मना कर रहे वसीम रिज़वी? यहां पढ़ें पूरा बयान

उत्तर प्रदेश शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने स्वतंत्रता दिवस पर हरे झंडे का बहिष्कार करने की अपील की है।  जाने उन्होंने ऐसा क्यूं कहा।

उत्तर प्रदेश शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने स्वतंत्रता दिवस के अपने संदेश में चांद तारे वाले हरे झंडे को फहराने से मना किया है। उन्होंने हरे रंगे के झंडे की जगह अपने देश का तिरंगा झंडा फहराने की अपील की है।

मदरसों व घरों पर हरे रंग के झण्डे लगाने वाले देश के गद्दार
वसीम रिजवी ने मंगलवार को अपने एक बयान में कहा कि हिंदुस्तान के कट्टरपंथी मुसलमानों को यह तय करना होगा कि उन्हें हिंदुस्तान के तिरंगे झंडे से मोहब्बत कर उसे बुलंद करना है या फिर इस्लामिक झंडा को, जो पाकिस्तान के चांद तारे वाले झंडे का रुप उसे बुलंद करना है। जो लोग हरे रंग के झंडे को अपने मदरसों, अपने घरों में लगाते है और जूलुसों में लेकर चलते हैं, वे लोग देश के गद्दार हो सकते हैं लेकिन हिंदुस्तानी मुसलमान नहीं हो सकते।

Loading...

ऐसे लोगों को हिंदुस्तान में रहना है तो उन्हें तिरंगे झंडे से मोहब्बत करनी होगी। राष्ट्रगान को गाना होगा। इसके लिए हम लोगों ने सुप्रीम कोर्ट में एक रीट याचिका दायर कर रखी है कि हिंदुस्तान में चांद तारा वाला झंडा नहीं फहर सकता है। जिस पर जल्द फैसला होने वाला है।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!