Breaking News

अब देश के इस राज्य में प्यार करना गुनाह नहीं, पुलिस खुद दे रही पनाह कहा- मुग़ल-ए-आज़म’ का जमाना गया

जयपुर। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने विधानसभा में ऑनर किलिंग बिल-2019 पारित किया है। यह कानून लागू करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य बन गया है।  इस विधेयक को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाने के लिए राज्य सरकार और पुलिस ने ट्विटर पर प्रचार-प्रसार भी शुरू कर दिया है।

क्या लिखा है ट्वीट में

यह कानून बनते ही राजस्थान पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर 8 अगस्त को एक पोस्ट शेयर किया है। इस ट्वीट में लिखा गया है कि सावधान, मुगल-ए-आजम का जमाना गया। आपने यदि किसी प्रेमी युगल को शारीरिक आघात पहुंचाने की कोशिश की, तो राजस्थान सरकार के ऑनर किलिंग 2019 के अनुसार आपको आजीवन कैद से मृत्यु दंड तक की सजा और 5 लाख रुपए तक का जुर्माना हो सकता है। आखिरी पंक्ति में दिल का चिह्न लगाकर लिखा है…क्याेंकि प्यार करना काेई गुनाह नहीं है।

मिलेगी कड़ी सजा

प्रदेश में ऑनर किलिंग बिल के तहत यदि दो वयस्क सहमति से अंतरजातीय विवाह करें और परिजन किसी एक या दोनों की हत्या कर दें तो यह ऑनर किलिंग माना जाएगा। अंतर सामुदायिक, अंतरधार्मिक, समुदाय में शादी पर भी ये नियम लागू होंगे।

क्या है फिल्म में

आपको बता दें कि मुगल-ए-आजम फिल्म में अकबर ने अपने बेटे सलीम की महबूबा अनारकली काे प्यार करने की सजा देते हुए उसे दाे दीवाराें के बीच जिंदा चुनवा दिया था। शायद यह ऑनर किलिंग का पहला मामला था। तब से लेकर अब तक करीब चार साै साल गुजर जाने के बाद भी प्यार करने काे गुनाह माना जाता रहा। अब राजस्थान देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां प्यार करना गुनाह नहीं है, बल्कि ऐसे प्रेमी युगलाें की सुरक्षा पुलिस करेगी।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!