Breaking News

पहली बार में ही महिला ने मास्टरजी कर दिए बेहोश, दूसरी बार में तो…

गुरुग्राम। गुरुग्राम पुलिस ने एक सेवानिवृत कर्मचारी को शीतल पेय में नशीला पदार्थ मिलाकर उसके अश्लील फोटो व वीडियो के माध्यम से ब्लैकमेल कर प्रोपर्टी अपने नाम कराने वाली महिला को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि महिला पहले भी एक प्लाट अपने नाम करवा चुकी है और अब ट्यूलिप सोसायटी में फ्लैट की मांग कर रही थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया।


गत 13 जुलाई को सेक्टर-10ए थाने में एक व्यक्ति ने लिखित शिकायत देकर बताया कि वह सरकारी विभाग से सेवानिवृत है और अब एक स्कूल में नौकरी करता है। गत अप्रैल महीने में एक महिला ने उसे उसके घर पर आकर मिली और उसने अपने लड़के का एडमिशन केंद्रीय विद्यालय में करवाने के लिए आग्रह किया। जब इसने कहा कि केंद्रीय विद्यालय में ऐसे ही दाखिला नही होता तो महिला ने किसी अन्य प्राइवेट स्कूल में दाखिला करवाने के लिए आग्रह किया।

महिला के कहने पर इसने कई प्राइवेट स्कूलों में प्रयास किया लेकिन महंगी फीस होने के कारण एडमिशन नही हो पाया। कुछ दिन बाद महिला का पीड़ित के पास फोन आया और लड़के के एडमिशन के लिए किए गए प्रयासों का आभार जताते हुए अपने घर आने के लिए कहा। महिला के कहने पर वह उसके घर चला जाता है। घर पहुंचने पर महिला एक शीतल पेय लेकर आती है, जिसे पीने के बाद इसको नशा होने लगता है और वह वहीं पर सो जाता है।

Loading...

दो-तीन घण्टे बाद जब होश में आता है तो वह अपने घर आ जाता है। महिला दोबारा उसे फोन कर अपने घर पर बुलाती है और फिर से वही शीतल पेय पीने को कहती है तो ये उसे पीने के लिए मना कर देता है। इसके बाद महिला ने उससे कहा कि जब वह पहले आया था तो उसकी उसके मोबाइल में वीडियो और फोटो है। साथ ही धमकाती है कि कुछ प्रॉपर्टी उसके नाम नही की तो उसके द्वारा इसके नशे की हालात में लिए गए फोटो/वीडियो को सोशल साइट्स पर वायरल कर देगी।

इसके घर वालों को बताकर ऐसे बदनाम कर देगी। बदनामी से डरते हुए पीड़ित ने महिला के नाम एक तीन मरला प्लाट व सैक्टर-92 में एक ईडब्ल्यूएस फ्लैट महिला के नाम कर दिए। इसके बाद महिला ने ट्यूलिप सोसायटी में फ्लैट देने की मांग कर दी। ऐसे में अपने आपको फंसता देख व्यक्ति ने सेक्टर-10ए थाना में शिकायत दी। जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर रविवार को पुलिस ने महिला को अरेस्ट कर लिया।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!