GujratNationalPolitics

विदेश मंत्री एस जयशंकर को गुजरात से राज्‍यसभा में भेज सकती है बीजेपी

1,300 Views

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल में विदेश मंत्री के रूप में शामिल एस जयशंकर गुजरात से राज्यसभा में भेजे जा सकते हैं. बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने गांधीनगर और स्‍मृति ईरानी ने उत्‍तर प्रदेश के अमेठी से लोकसभा चुनाव में जीतने के बाद राज्‍यसभा की सदस्‍यता से त्‍यागपत्र दे दिया था. दोनों नेता गुजरात के कोटे से राज्‍यसभा के सदस्‍य थे. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, इनमें से एक सीट पर एस जयशंकर को चुनकर राज्‍यसभा भेजा जा सकता है.

उधर, पटना साहिब से लोकसभा सदस्‍य के रूप में चुने गए रविशंकर प्रसाद भी राज्‍यसभा के सदस्‍य हैं और उनकी भी सीट खाली होने वाली है. माना जा रहा है कि रविशंकर प्रसाद की जगह बीजेपी सहयोगी दल लोक जनशक्‍ति पार्टी के अध्‍यक्ष रामविलास पासवान को राज्‍यसभा में भेज सकती है. रामविलास पासवान ने लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ा था और इस समय वे संसद के किसी भी सदन के सदस्‍य नहीं हैं. नियमों के अनुसार, केंद्रीय मंत्री को शपथ लेने के छह माह के भीतर सांसद बनना होता है। वह या तो निचले सदन के संसद सदस्य चुने जाने के लिए चुनाव लड़ सकते हैं या उन्हें राज्यसभा भेजा जा सकता है.

अभी गुजरात विधानसभा में बीजेपी के 105 विधायक हैं और राज्‍यसभा में एक उम्‍मीदवार को जिताने के लिए कम से कम 62 वोटों की आवश्यकता होती है.

एक आश्चर्यजनक कदम उठाते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह एस जयशंकर को विदेश मंत्री बनाया था. उन्होंने जनवरी 2015 से जनवरी 2018 तक विदेश सचिव के रूप में कार्य किया और पिछली सरकार में विदेश मंत्री के रूप में उन्हें और स्वराज दोनों को भारत की विदेश नीति में जीवंतता लाने का श्रेय दिया गया.

Related Articles

error: Content is protected !!
Close