Breaking News

टूट की कगार पर सपा-बसपा गठबंधन, मायावती ने किया अकेले विस उपचुनाव लड़ने का ऐलान

यूपी की सियासत में बुआ-बबुआ यानि सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती की राजनीतिक दोस्ती टूटने की कगार पर आ गई है। दरअसल मायावती ने लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार पर समीक्षा करते हुए दिल्ली में सोमवार को कहा है कि यूपी में होने वाले विधानसभा उपचुनाव की सभी 11 सीटों पर उनकी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी और अब 50 फीसदी वोट का लक्ष्य लेकर राजनीति करनी है। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में विधायकों के सांसद बनने से ये 11 सीटें खाली हुई हैं। खाली हुई सीटों पर छह महीने के भीतर चुनाव होने हैं।

यादव वोट ट्रांसफर नहीं हो पाया

मायावती ने कहा है कि गठबंधन से चुनाव में अपेक्षित परिणाम नहीं मिले हैं। उन्होंने दावा किया कि यादव वोट ट्रांसफर नहीं हो पाया है। लिहाजा, अब गठबंधन की समीक्षा की जाएगी। इतना ही नहीं मायावती ने यहां तक कह दिया कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव अपनी पत्नी और भाई को भी चुनाव नहीं जिता पाए हैं। मायावती के इस रुख के बाद सपा-बसपा गठबंधन टूट की कगार पर नजर आ रहा है।