Breaking News

खुशखबरी : सरकार ने लाया ऐसा ख़ास प्लान कि अब मेट्रो में महिलायें करे मुफ्त में सफ़र

दिल्ली सरकार जल्द ही दिल्ली मेट्रो में स्त्रियों को मुफ्त यात्रा करने की सुविधा दे सकती है. इसके लिए सरकार की ओर से दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से इस योजना को लागू करने के तकनीकी पहलुओं पर काम करने को बोला गया है.

दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से पूछा है कि इस योजना को कैसे लागू किया जा सकता है? इसके लिए मुफ्त पास की व्यवस्था होगी या कोई अन्य विकल्प होगा? अनुमान है कि योजना को दिल्ली मेट्रो  डीटीसी की बसों में लागू करने पर सरकार पर प्रति साल करीब 1200 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा.

दिल्ली सरकार करेगी भुगतान
दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने मेट्रो के अधिकारियों से बोला है कि यह योजना हर हाल में हमें लागू करनी है. मेट्रो में स्त्रियों की मुफ्त यात्रा पर आने वाले खर्च को दिल्ली सरकार उठाएगी. इसके लिए वह डीएमआरसी को भुगतान करेगी. बसों और मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसद महिलाएं होती हैं. इस हिसाब से जो अनुमान लगाया गया है उसके अनुसार, प्रति साल करीब 200 करोड़ रुपये का खर्च बसों को लेकर सरकार पर आएगा.

मेट्रो में स्त्रियों की मुफ्त यात्रा पर करीब एक हजार करोड़ का खर्च प्रति साल आएगा. हालांकि, यह मात्रा एक अनुमान है. मेट्रो के अधिकारियों का बोलना है कि बसों की अपेक्षा मेट्रो में महिलाएं अधिक यात्रा करती हैं. यदि योजना लागू होती है तो यह दिल्ली की अपनी तरह की अलग योजना होगी.

दिल्ली सरकार की मंशा इस योजना को बसों  मेट्रो में एक साथ लागू करने की है. डीटीसी और क्लस्टर स्कीम की बसों में इसे लागू करने में सरकार के सामने कोई अड़चन नहीं है, मगर मेट्रो में सुरक्षा की दृष्टि से इसे लागू कर पाना थोड़ा टेढ़ा कार्य है. परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने शुक्रवार को मेट्रो के अधिकारियों को बुलाकर इस योजना को लेकर चर्चा की. कोई तकनीकी अड़चन नहीं आई तो छह माह में योजना लागू हो जाएगी. दिल्ली सरकार ने इसके लिए मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) से जल्द प्रस्ताव लाने को बोला है.