Breaking News

वर्ल्ड कप फ्लैशबैक: एक नजर 2015 क्रिकेट वर्ल्ड कप पर

ज्यादातर महिलाएं इस बात से परेशान रहती है कि शादी के बाद अचानक पीरियड्स आना बंद हो जाते हैं या  फिर आने में टाइम लगता है. हालांकि माहवारी आना कोई समस्या नहीं बल्कि ये तो प्रकृति द्वारा दिया गया एक उपहार लेकिन जब इसका टाइम आगे पीछे हो जाता है तो महिलाएं अधिक चिंता में पड़ जाती है और परेशान होने लगती है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर शादी के बाद पीरियड लेट क्यों होते हैं..
1.रूटीन : शादी के बाद एक महिला की ज़िंदगी में कई बदलाव आते हैं जिसके बाद उसके ऊपर कई सारी जिम्मेदारियां बढ़ जाती है. जिम्मेदारियां के साथ स्ट्रेस भी बढ़ जाता और ऐसे में इसका पूरा असर महिलाओं के मासिक धर्म पर पड़ता है जिसके चलते पीरियड्स आने में देरी हो जाती है.
2.खराब भोजन : शादी के बाद महिलाएं अपनी खाने पीने की चीजों पर ध्यान नहीं दे पाती है जिससे महिलाओं का मासिक धर्म प्रभावित होता है. इसके अलावा अगर कोई महिला एल्कोहल का अधिक सेवन और स्मोकिंग करती है तो उससे भी मासिक धर्म गड़बड़ हो जाता है.
3.मोटापा : शादी के बाद कुछ महिलाओं का वजन बढ़ जाता है जो माहवारी में अनियमितता का एक प्रमुख कारण है ऐसे में डॉक्टर की सलाह जरूर ले.
4. स्तनपान : एक रिसर्च में ये बताया गया है कि माँ बनने के बाद भी महिलाओं को पीरियड्स में परेशानी आती है. दरअसल बच्चे को जन्म देने के बाद महिला लम्बे समय तक स्तनपान कराती रहती हैं जो मासिक धर्म में देरी का कारण बनता है.