Breaking News

इस तरह की महिलाओं के लटकते स्तन खोलते है ऐसे राज, जो मर्दो को कर देंगे हैरान

ऐसी कई सारी महिलायें हैं, जो अपने स्तनों के लटकने से परेशान रहती हैं। स्तनों का लटकना यानी सैगिंग को वैगनिक भाषा में टोटिस (Ptosis) कहते है और ऐसा होने के बहुत से कारण हैं।

आमतौर पर प्राकृतिक रूप से 40 साल से ज़्यादा उम्र की महिलाओं में यह समस्या दिखाई देती है. लेकिन आजकल युवा तथा 40 साल से कम उम्र की महिलाएं भी इस समस्या से त्रस्त हैं।

उम्र केअलावा स्तनों के लटकने के अन्य कारणों में स्तनपान, गर्भावस्था, रजोनिवृत्ति, तेजी से वजन घटाना या बढ़ाना, माँसपेशियों पर जोर पड़े ऐसे व्यायाम करना, पोषण की कमी और खराब फिटिंग वाली ब्रा पहनना शामिल है।

स्तनों का लटकना कम करने के लिए बाजार में बहुत से क्रीम्स तथा लोशन उपलब्ध हैं। लेकिन आप कुछ घरेलु नुस्खों का उपयोग भी कर सकती हैं।

Loading...

व्यायाम

स्तानों मे मांसपेशियां नहीं होती। वे वसा, संयोजी ऊतकों और दूध बनाने वाली ग्रंथियों से बने होते हैं। उन्हें अच्छी स्थिति में और आकार में रखने के लिए, उचित देखभाल की आवश्यकता होती है।

सरल व्यायाम जैसे,कि ब्रेस्ट प्रेस, ब्रेस्ट पुल, आर्म रेजेस, राउंड अबाउट पुश-अप्स और डम्बल फ्लाइज आपके स्तनों का आकार बनाये रखने में मददगार साबित होते हैं।

बर्फ से मसाज

दो बर्फ के क्यूब्स लीजिये और उनसे अपने स्तनों को गोलाकार में हलके हाथों से मसाज कीजिये। ध्यान रखिये, बर्फ से केवल एक मिनट ही मसाज कीजिये, नहीं तो आपके स्तन सुन्न हो जायेंगे।

Loading...
Loading...
error: Content is protected !!