AmethiElectionNationalPoliticsuttar pradesh

स्‍मृत‍ि के समर्थन में खड़े हुए ग्रामीण, कहा- पहले अपनी सोच बदलें प्रियंका

207 Views

पूर्व रक्षा मंत्री स्व. मनोहर पर्रीकर द्वारा अमेठी के लोगों को चप्पल भिजवाने के मामले में मंगलवार को सियासत लगातार दूसरे दिन भी गर्म रही। रक्षा मंत्री रहते हुए मनोहर पर्रीकर द्वारा गोद लिए गए गांव बरौलिया व हरिहरपुर के ग्रामीणों ने हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया और कांग्रेस अध्यक्ष व स्थानीय सांसद राहुल गांधी व उनकी बहन प्रियंका वाड्रा पर उपेक्षा करने का आरोप लगाया।

बरौलिया में पूर्व प्रधान व भाजपा नेता सुरेंद्र सिंह व हरिहरपुर में कामता सिंह, राजेश व दिनेश पाठक की अगुवाई में ग्रामीण सुबह ही हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर गलियों में निकले और प्रियंका राहुल के विरोध में नारेबाजी करते हुए कहाकि आओ मिलकर कांग्रेस का बहिष्कार करें। अमेठी की उन्नति का सपना साकार करें। ग्रामीण छोटू पांडेय, अवध राज सिंह,  गया प्रसाद तिवारी, मृदुला तिवारी, मीना आदि ने कहा कि राहुल गांधी 15 वर्षों से सांसद हैं, जबकि उन्होंने गांव के लिए कुछ नहीं किया। जीतने के बाद में कभी भी हरिहरपुर गांव नहीं आए, जबकि स्मृति ईरानी के प्रयास से पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने गांव को गोद लेकर गांव में अनेक विकास कार्य कराए। बरौलिया के ग्रामीणों ने कहाकि गांव में पूर्व रक्षामंत्री के प्रयास से पांच करोड़ से अधिक की लागत से विकास कार्य हुआ है।

हरिहरपुर के लोगों का कहना है कि गांव में जो विकास दिख रहा है वह सब पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर की देन है। गौरतलब है कि सोमवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर अमेठी के लोगों को चप्पल भिजवा कर उनका अपमान करने का आरोप लगाया था। प्रियंका के बयान पर पलटवार करते हुए स्मृति ईरानी ने राहुल और प्रियंका पर लोगों की समस्याओं से दूर रहने की बात कही थी।

स्मृति के विरोध में ग्रामीणों ने निकाली भड़ास 

हरिहरपुर गांव में ग्रामीणों ने स्मृति ईरानी पर गांव के सीधे साधे लोगों का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि यहां के लोग अपनी मेहनत की कमाई से जूता- चप्पल पहन रहे हैं। विरोध करने वालों में मान सिंह, राम सुंदर, अशोक तिवारी सहित कई अन्य लोग भी मौजूद थे।

गौरतलब है क‍ि कांगे्रस महासचिव ने मां सोनिया गांधी की मौजूदगी में फुरसतगंज के नहर कोठी में नुक्कड़ सभा में स्मृति ईरानी को एक बाहरी करार देते हुए उन पर कांग्र्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का अपमान करने के लिए जूते बांटने का आरोप लगाया। प्रियंका ने कहा कि केंद्रीय मंत्री अमेठी के लोगों का अपमान कर रही हैं। उन्होंने कहा कि अमेठी व रायबरेली के लोग स्वाभिमानी हैं और वे किसी से भीख नहीं मांगते। वहीं, भाजपा अमेठी में वोटों की भीख मांग रहीं है।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close