Ajab-gajabspirituality

जानिए हिंदू धर्म में ही शव को क्यों जलाया जाता हैं, जानकर हैरान हो जाओगे आप

525 Views

इस दुनिया में जो भी व्यक्ति आया हैं,उसे एक ना एक दिन जाना ही होता हैं। यह मनुष्य के जीवन का सबसे बड़ा और काड़वा सच हैं। कोई कितनी भी कोशिश क्यों ना कर ले मगर इस दुनिया से सभी को एक ना एक दिन जाना जरूर पड़ता हैं।वही व्यक्ति की मृत्यु के बाद वह जिस धर्म समुदाय का होता हैं। उसे उस तरह से जलाया या फिर दफनाया जाता हैं। मगर अधिकतर धर्मों में व्यक्ति को मृत्यु के बाद मिट्टी में दफन कर दिया जाता हैं। मगर यह तो आप सब जानते ही होगे।कि हिंदू धर्म में मृत्यु शव को जलाया जाता हैं। मगर आप ये नहीं जानते हैं। कि हिंदू धर्म में शव को क्यों जलाया जाता हैं। तो इसका जवाब आज हम आपको देने वाले हैं, कि क्यों हिंदू धर्म में शव को जलाया जाता हैं तो आइए जानते हैं।

आपको यह बता दें,कि हिंदू धर्म में लोगो को जन्म से ही संस्कार दिए जाते हैं। जिसमें व्यक्ति के जीवन के हर पड़ाव यानी व्यक्ति के जीवन के अलग—अलग विभाजित कर दिया जाता हैं। वही इन संस्कारों को 16 कर्म कांडों के रुप में माना जाता हैं। इन्हीं कर्म कांडों में से एक मृत्यु होने के बाद शव को जलाना भी एक कर्म कांड होता हैं।जो व्यक्ति के जीवन का सबसे आखिरी माना जाता हैं। वही हिंदू धर्म के मुताबिक मनुष्य की मृत्यु हो जाने के बाद उसके शव को अग्नि में जलाया जाता हैं। जिससे मृत्यु व्यक्ति की आत्मा को पूर्ण शांति प्राप्त हो सकते। वही इस धर्म के लोगो का यह भी मानना हैं,कि मृत्यु के बाद अगर शव को जलाया जाता हैं। तो उस व्यक्ति के सभी पाप अग्नि में जलकर नष्ट हो जाते हैं और उस व्यक्ति को एक नए और अच्छा जीवन प्राप्त हो जाता हैं।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close