NationalPoliticsuttar pradesh

शिवपाल सिंह यादव ने मायावती और अखिलेश पर किया अब तक का सबसे बड़ा हमला

325 Views

लखनऊ :प्रगतिशील समाजवादी पार्टी(लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने बलिया में कहा कि सपा-बसपा गठबंधन बेमेल है। जिस बेटे अखिलेश को पिता ने जमीन से आसमान तक पहुंचाया और जिस बहन मायावती ने भाई मानते हुए बीजेपी नेताओं को राखी बांधी, वही धोखेबाज हो गए। बेटा ने बाप को धोखा दिया और बहन ने भाई को। ऐसे लोग आप के क्या होंगे। ऐसे लोगों का कोई भरोसा नहीं है, कभी भी किसी को धोखा दे सकते हैं।

सपा के महासचिव और भाई रामगोपाल यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि भाई ने कहा था कि पूर्वांचल में जायेंगे और अखिलेश के खिलाफ बोलेंगे तो पिटेंगे, लेकिन मैं तो बाराबंकी से लेकर बनारस तक आ गया और वहां सभाएं भी की, लेकिन कुछ नहीं हुआ, 62 साल की उम्र हो गई, किसी ने नहीं पीटा।

हर जगह जनता का सम्मान मिला है। उनके जैसे लोग पार्टी को बर्बाद कर देंगे। हमने कभी नहीं सोचा था कि सपा से अलग होना होगा लेकिन हमें मजबूर किया गया, तब जाकर नई पार्टी बनाई। उन्होंने कहा कि बिना प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के दिल्ली में कोई सरकार नहीं बन पाएगी।

शिवपाल यादव शनिवार को सहतवार के बड़ा पोखरा पर आयोजित स्वर्गीय बद्रीनाथ सिंह की 17वी पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बद्रीनाथ सिंह गरीबों का बहुत ध्यान रखते थे। उनके पास से कोई निराश नहीं लौटता था। आज यहां उमड़ी भीड़ इसका प्रमाण है कि लोग उनका कितना सम्मान करते है।

शिवपाल ने कहा कि देश आज विषम परिस्थिति में है, वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी ने कहा था सबका साथ सबका विकास होगा, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ। कोई वादा पूरा नहीं किया। घोषणा पत्र भी पूरा नहीं किया। देश में बेरोजगारी बढ़ गई है, नौजवान परेशान हैं।

प्रदेश की योगी सरकार पर भी करार प्रहार करते हुए कहा कि यूपी में बिना रिश्वत के कोई काम नहीं हो रहा है, प्रदेश के हर कार्यालय में भ्रष्टाचार है। पुलिस प्रशासनिक अधिकारी बेलगाम हो गए हैं। आम जनता की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। प्रदेश की योगी और देश की मोदी सरकार से जनता ऊब चुकी है, बदलाव होना चाहिए, इसका फैसला जनता को करना है।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि जिस गेस्ट हाउस कांड के बाद उन पर उंगलियां उठी, वह बेबुनियाद है। आज भी हम नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं, उस समय विधानसभा में भी मैंने यह बात कही थी। शर्त यह है कि तत्कालीन सीएम का भी नार्को टेस्ट होना चाहिए, इससे यह साबित हो जाएगा कि बीजेपी और कांग्रेस से कौन मिला है, किसने धोखा दिया है। ऐसे लोग कुछ भी कर सकते हैं।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close