Breaking News

लखनऊ में आईपीएल के मैच होने की बढ़ी उम्मीद

लखनऊ। बीते साल भारत-वेस्टइंडीज के बीच टी20 मैच की मेजबानी के बाद नवाबों का शहर इस बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मानचित्र से भी जुड़ सकता है. ऐसा इसलिए होगा कि आईपीएल के 12वें सीजन की मेजबानी को लेकर छाये काले बादल छट गए हैं और यह तय हो गया है कि इस बार आईपीएल के सभी मैच अब देश में ही होंगे. इसी के साथ यह भी उम्मीद बंध गयी है कि अटल बिहारी बाजपेयी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम इस साल अपने पहले आईपीएल मैच की मेजबानी कर सकता है.

बीसीसीआई ने की पुष्टि, देश में ही होगा आईपीएल, 23 मार्च से शुरू होगा महामुकाबला

वैसे भी आईपीएल कमिश्नर राजीव शुक्ला ने पिछले साल यह भी कहा था कि अगर अगले साल आईपीएल मैच देश में हुए तो लखनऊ को भी मेजबानी मिलेगी. इस बारे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को एक बयान जारी कर इस बात की पुष्टि कर दी है. वैसे इसी साल भारत में आम चुनाव होने हैं और इसी के चलते आईपीएल के भारत में होने पर संदेह था क्योंकि पहले भी दो बार आम चुनावों के चलते आईपीएल बाहर में आयोजित किया जा चुका है. इस बारे में बीसीसीआई ने एक बयान में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने मंगलवार को दिल्ली में बैठक की और आईपीएल-2019 के स्थलों और विंडो पर चर्चा की.

बयान के अनुसार केंद्र और राज्यों की एजेंसियों के साथ चर्चा करते हुए यह फैसला लिया गया है कि आईपीएल का 12वां सीजन भारत में ही आयोजित किया जाएगा. आईपीएल-2019 की शुरुआत 23 मार्च से होगी जिसका आगे का कार्यक्रम बाद में जारी किया जाएगा. बीसीसीआई के बयान के मुताबिक सीओए आईपीएल के हितधारकों से लीग के आगामी सीजन के कार्यक्रम को लेकर चर्चा करेगी.

वैसे हर साल आईपीएल अमूमन अप्रैल के पहले सप्ताह से शुरू होकर मई के अंतिम सप्ताह तक चलता था लेकिन इस बार ऐसा नहीं होने के आसार हैं. जस्टिस लोढ़ा समिति की सिफारिशों के मुताबिक, आईपीएल और किसी इंटरनेशनल क्रिकेट टूर्नमेंट के बीच 15 दिन का अंतराल होना जरूरी है.  आईपीएल को दो बार भारत से बाहर आयोजित किया गया है. पहली बार 2009 में इसे दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी में आयोजित किया गया था, जबकि पिछले लोकसभा चुनावों के दौरान 2014 में आंशिक तौर पर इसका आयोजन संयुक्त अरब अमीरात में किया गया था.