Breaking News

ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटरों में कोहली का खौफ, आउट करने के लिए बनाया खास प्‍लान

13 Views
नई दिल्‍ली। ऐडिलेड ओवल (भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज ) 6 दिसंबर 2018, हवा में सिक्का उछलते ही इस बहुप्रतीक्षित सीरीज का आगाज हो जाएगा। भारतीय टीम को इस बार दौरे पर जीत का मजबूत दावेदार माना जा रहा है। भारत के पास बल्लेबाजी के अलावा मजबूत गेंदबाजी आक्रमण भी है जो एक बड़ी सकारात्मक बात है। इस आगाज से पहले कंगारू खिलाड़ी भारत के कप्तान विराट कोहली से डरे हुए हैं। ऑस्‍ट्रेलिया के क्रिकेटरों में विराट कोहली का खौफ इसकदर है कि पहले टेस्ट मैच से पूर्व ही उन्हें भारतीय कप्तान को आउट करने का हथकंडा सूझ रहा है।

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन का मानना है कि ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों में पर्याप्त क्षमता है कि वे भारत के करिश्माई कप्तान विराट कोहली को अपनी गेंदबाजी से ‘परेशान’ कर सकें और उनके बल्ले को खामोश रख सकें। पेन ने साथ ही अपने तेज गेंदबाजों से अपील की कि वे छह दिसंबर से एडिलेड में शुरू हो रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज के दौरान अधिक ‘भावुक’ नहीं हों। 

पेन ने क्रिकेट.काम.एयू से कहा, ‘मुझे लगता है कि अगर हमारा तेज गेंदबाजी आक्रमण अपने कौशल के अनुरूप प्रदर्शन करता है, तो वे उसे (कोहली को) परेशान कर पाएंगे।’ पेन ने कहा, ‘कभी-कभी जब हम काफी अधिक भावुक हो जाते हैं, तो हम अपनी राह से थोड़ा भटक सकते हैं। मुझे यकीन है कि ऐसा समय भी आएगा जब वे तूफानी गेंदबाजी कर रहे होंगे। लेकिन, हमें अपना धैर्य बरकरार रखने की जरूरत है जिससे कि हम अपने कौशल के अनुरूप काम कर सकें।’ 

स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर एक-एक साल के प्रतिबंध के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम की बदलती टीम संस्कृति पर काफी चर्चा हो रही है। कोच जस्टिन लैंगर ने भी मैदान पर प्रतिस्पर्धी होने के साथ-साथ सिद्धांतों के शीर्ष पर भी होने के महत्व पर बल दिया है। कोहली इससे पहले भी दो बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा कर चुके हैं और आम तौर पर आक्रामक रुख अपनाने वाले भारतीय कप्तान ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में मैदान पर छींटाकशी की शुरुआत उनकी ओर से नहीं होगी। पेन ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी को उनकी टीम कोहली को निशाना बनाने से नहीं हिचकिचाएगी।

 लेकिन, वे अपना काम सतर्कता के साथ करेंगे। पेन ने कहा, ‘मैंने जो देखा है उसके अनुसार वह ऐसा व्यक्ति है जिसे इस तरह की चीजें पसंद हैं।’ पेन ने कहा, ‘अगर ऐसा समय आया कि हमें उसे कुछ बोलने की जरूरत होगी तो मुझे लगता है कि हमें उसे कुछ कहना होगा, मुझे यकीन है कि हम ऐसा करेंगे। अगर हम उसके खिलाफ अच्छी गेंदबाजी कर रहे होंगे और उसे परेशान कर रहे होंगे तो मुझे नहीं लगता कि हमें उसे कुछ बोलने की जरूरत है।

Tags

Related Articles

error: Content is protected !!
Close