Breaking News

बड़ा खुलासा : ये रहे सबूत, नोटबंदी को खुद मोदी ने किया पूरी तरह फेल !

16 Views
08 अक्टूबर 2017 के दिन नोटबंदी का फैसला लिया गया था. देश के पीएम मोदी द्वरा कहा गया था की इससे देश में भ्रष्टाचार को रोकने में मदद मिलेगी. यह एक ऐसी त्रासदी थी जिसने कई लोगों की जान ली. हालंकि २ साल बित जाने के बाद भी देश में पहले से ज्यादा भ्रष्टाचार के मामले सामने आ रहे हैं. नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार ने जितने दावे किये थे वो सभी धीरे-धीरे गलत साबित हो गए.

नोटबंदी के बाद बढ़ी बेरोजगारी

बता दे की जब मोदी ने यह फैसला देश के सामने सुनाया था उस रात कई लोगों की जिंदगी तबाह करके रख दी. यह एक ऐसी घोषणा थी जिससे न सिर्फ उप्पर क्लास बल्कि निचले अस्तर के लोग काफी प्रभावित हुए थे. वहीँ पीएम मोदी उस समय दलील दिए थे की इससे देश में पनपने वाला आतंकवाद और भ्रष्टाचार खत्म हो जायेगा, लेकिन अभी तक ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला हैं. अगर कुछ रिपोर्ट कि माने तो नोट बंदी के बाद और भ्रष्टाचार बढ़ा हैं.

रिपोर्ट में हुआ खुलासा

आपकी जानकारी के लिए बताते चले कि FIU कि तरफ से एक रिपोर्ट जारी किया गया हैं. इस रिपोर्ट में हैरान करने वाले खुलासे हुए हैं. रिपोर्ट कि माने तो नोटबंदी के बाद अब तक की सबसे ज़्यादा नकली करेंसी पकड़ी है. जिसके कारण आतंकवाद बढ़ने की आशंका काफी हद तक बढ़ गई हैं. वहीँ पीएम मोदी अपने भाषण में कहा था कि नोट बंदी से नकली करेंसी खत्म हो जाएगी. वहीँ रिपोर्ट से मोदी सरकार कि पोल खुल गयी हैं.

वित्त मंत्रालय के द्वारा तैयार की गई ये रिपोर्ट


खबरों के मुताबिक यह रिपोर्ट केंद्रीय वित्‍त मंत्रालय द्वारा तैयार किया गया हैं. FIU ने अपने रिपोर्ट में कहा हैं कि बैंकिंग और अन्‍य वित्‍तीय चैनलों में जाली नोट के लेनदेन में पिछले साल की तुलना इस साल सबसे ज्यादा बढ़ गया हैं. अगर पिछले आंकड़ों पर गौर किया जाए तो वित्तीय वर्ष 2015-16 में जाली करेंसी के कुल 4.10 लाख मामले सामने आए थे, वहीँ 2016-17 के दौरान करीब 3.22 लाख मामले अधिक सामने आये हैं. अब यह आंकड़ा बढ़कर 7.33 लाख हो गया है

Tags

Related Articles

error: Content is protected !!
Close