Breaking News

17.45 लाख VVPAT मशीनों से होगा 2019 का लोकसभा चुनाव

नई दिल्ली: अगला लोकसभा चुनाव वीवीपैट युक्त ईवीएम से ही किया जाएगा। चुनाव आयोग ने वीवीपैट युक्त ईवीएम मशीनों की कमी की आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा कि भविष्य में होने वाले सभी चुनाव वीवीपैट से ही कराया जाएगा। चुनाव आयोग द्वारा बुधवार को जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि लोकसभा चुनाव तक मतदान पर्ची से जुड़ी वीवीपैट मशीनों की आपूर्ति नहीं हो पाने की आशंकाएं निराधार हैं। आयोग लोकसभा चुनाव और इसके पहले विधानसभा चुनाव तथा उपचुनाव पूरी तरह से वीवीपैट युक्त ईवीएम से कराने के लिए प्रतिबद्ध है।
आयोग ने कहा कि आगामी आम चुनाव में देश में सभी मतदान केन्द्रों पर जरूरत के मुताबिक 17 .45 लाख वीवीपैट मशीनों की आपूर्ति की जिम्मेदारी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों बीईएल और ईसीआइएल को सौंपी गई है। इनमें से अब तक 9 .45 लाख मशीनों का निर्माण हो चुका है और दोनों कंपनियों ने शेष आठ लाख मशीनों की आपूर्ति इस साल नवंबर तक सभी संबद्ध राज्यों को कर देने का आश्वासन दिया है।
आयोग ने मशीनों के निर्माण और पूर्ति पर स्वयं नजर रखने की जानकारी देते हुए बताया पिछले चुनावों में मतदान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ियों की शिकायतों को देखते हुए अगले आम चुनाव के लिए मशीनों की संख्या में 125 से 135 प्रतिशत तक बढ़ोतरी की गई है। जिससे कि मतदान के दौरान मशीनों में गड़बड़ी होने पर इन्हें अविलंब बदला जा सके।आयोग ने कहा कि कैराना और भंडारा गोंदिया लोकसभा सीट के उपचुनाव में अत्यधिक धूप के कारण कुछ मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतों के मद्देनजर नई मशीनों के लिए सॉफ्टवेयर में भी सुधार किया गया है जिससे मौसम संबंधी कारकों का मशीन की कार्यप्रणाली पर कोई असर न हो। पिछले दो दशक में तीन लोकसभा और 113 विधानसभा चुनावों में ईवीएम के सफल इस्तेमाल को सराहनीय बताते हुए आयोग ने भविष्य में भी इसके बेहतर परिणामों के प्रति विश्वास व्यक्त किया है।
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/