Breaking News

इस शुभ मुहूर्त में मनाया जाएगा रक्षाबंधन का त्यौहार…

लखनऊ। रक्षाबंधन का शुभ पर्व हर भाई  बहन के लिए बेहद खास होता है, इस साल यह पर्व 26 अगस्त 2018 दिन रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन हर बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है। और उससे सुरक्षा का वचन लेती है। बहन भाई के माथे पे तिलक लगा कर उसके लम्बी आयु  होने की कामना करती है। कहते हैं इस धागे का संबंध अटूट होता है। जब तक जीवन की डोर रहती  है एक भाई अपनी बहन के लिए और उसकी सुरक्षा तथा खुशी के लिए दृढ़ संकल्प रहता है।

Loading...
राखी बांधने का शुभ मुहूर्त  
वैसे तो भाई की कलाई पर राखी बांधने का कोई भी वक्त अशुभ नहीं माना जाता है , परन्तु भाई की दीर्घायु और खुशियों की कामना एक शुभ मुहूर्त में की जाए तो सारे कष्ट दूर होते हैं। ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, इस साल 26 अगस्त को सुबह 05.59 से सायंकाल 17.25 तक राखी बांधने का मुहूर्त शुभ है।
Related image

ऐसे तैयार पूजा की थाली और बांधे राखी  
रक्षा बंधन के दिन बहनें प्रातः काल उठकर नए वस्त्र धारण कर राखी की थाली तैयार करती हैं। उस थाल में राखी, कुमकुम, हल्दी, अक्षत और मिष्ठान रहता है। प्रथमतः भाई को तिलक कर उसकी आरती करती है। उसके ऊपर अक्षत फेकती है। अब राखी भाई के दाहिनी कलाई पर बांधी जाती है। इस पूरी प्रक्रिया तक भाई और बहन दोनों को उपवास रखना चाहिए।
बहुत से लोग कहते हैं कि केवल बहनें ही व्रत रहें ऐसा नहीं है भाई भी व्रत रहेगा।तत्पश्चात बहन भाई को मिठाई खिलाती है। बहन यदि छोटी है तो भाई का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लेगी और यदि बहन बड़ी है। तो भाई उसका पैर छूकर आशीर्वाद लेगा। इस प्रकार भाई आजीवन अपनी बहन की सुरक्षा के लिए संकल्प करता है।  
Related image
 
कौन सा समय है अशुभ    
भद्राकाल  में राखी नहीं बांधी चाहिए  इस वर्ष राखी की सबसे खास बात ये है कि भद्राकाल का समय सूर्य के उदय होने से पहले ही समाप्त हो जाएगा। 
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/