Breaking News

मां की हज यात्रा से पहले बेटे की शहादत, आतंकियों ने अगवा कर की हत्या

यी दिल्ली। जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा अगवा किए गए पुलिसकर्मी जावेद अहमद डार की बेरहमी से हत्या कर दी। शुक्रवार को आतंकी हत्या के बाद शहीद पुलिसकर्मी के शव को कुलगाम में फेंक कर फरार हो गए। पुलिस ने बताया कि डार का शव कुलगाम के परिवान गांव से बरामद हुआ है।

हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने ली जिम्मेदारी

बता दें कि गुरुवार को आतंकियों ने जावेद डार को शोपियां जिले के वेहिल गांव में उनके घर से अगवा किया था। डार की हत्या की जिम्मेदारी हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने ली है। आज डार को सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

मां को दवा देने जा रहा था शहीद डार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डार को आतंकियों ने उस वक्त अगवा किया गया जब वो एक मेडिकल पर दवा लेने जा रहे थे। जावेद ने पुलिस महकमे को बताया था कि वो अपनी मां को दवाई देने जा रहे हैं। उन्होंने कहा था कि उनकी मां को दवाइयों की जरूरत है, वो हज के लिए जाने वाली हैं।

बंदूक की नोक पर उठा ले गए थे आतंकी

चश्मदीदों के मुताबिक एक कार में तीन से चार हथियारबंद आतंकवादी आए। आतंकवादियों ने हवा में फायरिंग की और बंदूक की नोंक पर जावेद को अपने साथ कार में बिठाकर ले गए।

एसएसपी की सुरक्षा में थे तैनात

जानकारी के मुताबिक जावेद पिछले पांच साल से एसएसपी शैलेंद्र कुमार के साथ ऑपरेटर के तौर पर तैनात थे।

बौखलाए आतंकी जवानों को बना रहे निशाना 

बता दें कि सेना और पुलिस द्वारा ऑपरेशन ऑलआउट से बौखलाए आतंकी लगातार जवानों को निशाना बना रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में इससे पहले भी आतंकियों द्वारा सेना के जवान औरंगजेब का अपहरण करने के बाद बेरहमी से उनकी हत्या कर दी गई थी। सेना की 44 राष्ट्रीय राइफल्स रेजीमेंट के जवान औरंगजेब का शव पुलवामा के गुस्सू गांव में बरामद किया गया था। औरंगजेब ईद मनाने अपने घर जा रहे थे।
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/