Breaking News

बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के टॉप

दूध का जला छांछ भी फूंक-फूंक कर पीता है। कुछ ऐसा ही इस बार बिहार बोर्ड कर रहा है। इंटर के बाद अब बिहार बोर्ड मैट्रिक की मेधा सूची तैयार करने के पहले पूरी सतर्कता बरत रहा है। परीक्षा परिणाम (bihar board matric result 2018 )20 जून को घोषित किया जाएगा।
टॉप-25 तक आने वाले मेधावी छात्रों के जंची हुई उत्तर पुस्तिकाओं की दुबारा जांच के लिए समीक्षा समिति बनाई गई है। समिति के समक्ष वेरिफिकेशन के लिए बुलाया गया है। उत्तर पुस्तिका की दुबारा जांच शनिवार को की गई। सारी उत्तर पुस्तिकाओं की जांच के बाद अब रविवार से मेधावी छात्रों का वेरिफिकेशन शुरू होगा। वेरिफिकेशन के लिए जिन मेधावी छात्रों को बोर्ड ने बुलाया है, उन्हें शामिल होना अनिवार्य है। वेरिफिकेशन में शामिल होने के बाद ही इन मेधावी छात्रों को रिजल्ट मिलेगा।
बता दें कि इंटर की मेधा सूची में शामिल कई छात्रों के वेरिफिकेशन के बाद रिजल्ट रोक दिया गया था। इसमें कई छात्र बोर्ड द्वारा निर्धारित वेरिफिकेशन की तिथि में शामिल नहीं हो पाये थे। बोर्ड ने मैट्रिक के मेधावी छात्रों को स्पष्ट कर दिया है कि वेरिफिकेशन में शामिल होने के बाद ही उन्हें रिजल्ट मिलेगा। इसकी जानकारी कई अभिभावकों ने दी। बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि मेधा सूची में शामिल होने के पहले छात्र का वेरिफिकेशन जरूरी है। छात्रों को वेरिफिकेशन के लिए आना अनिवार्य है। इसके लिए बोर्ड सारी सुविधाएं देता है। बिहार राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष केदार नाथ पांडेय ने कहा कि छात्रों को एक सप्ताह का समय मिलना चाहिए। अगर कोई छात्र नहीं आ पाता है तो उसका रिजल्ट रोकना उचित नहीं है।
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/