Breaking News

प्रेमजाल में फंसाकर व्यापारियों को ब्लैकमेल करती थी शातिर महिला

लखनऊ। गाजीपुर पुलिस ने सर्विलांस सेल टीम की मदद से एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो बड़े- बड़े व्यापारियों से फेसबुक के माध्यम से अपनी बहन से दोस्ती कराते थे और फिर ब्लैकमेल करके रकम वसूलते थे। इन लोगों की वसूली से तंग आकर सोमवार को गाजीपुर थानाक्षेत्र के एक व्यापारी ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई थी। जिसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सर्विलांस टीम की मदद से इस पूरे गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इस पूरे मामले में हैरानी की बात इस गिरोह का संचालन तीन सगे भाई-बहनों के द्वारा किया जा रहा था, जो मूलरूप से बिहार राज्य के रहने वाले थे। जो ब्लैकमेलिंग के धंधे को आगे बढ़ाने के लिए पिछले काफी समय से लखनऊ में अलग-अलग जगहों पर रहते थे और लोगों को अपना निशाना बनाते थे।

व्यापारियों को ब्लैकमेल करने वाला गिरोह गिरफ्तार

एसपीट्रांस गोमती हरेंद्र कुमार ने बताया कि गाजीपुर थाना पर एक व्यापारी ने महिला द्वारा फेसबुक के माध्यम से ब्लैकमेलिंग करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। इस मामले का संज्ञान लेते हुए थाना प्रभारी सुजीत राय ने सर्विलान्स टीम की मदत से तीन  सगे भाई बहन को गिरफ्तार किया है। जो फेसबुक के माध्यम से लोगों से लाखों रुपयों की ठगी कर चुके हैं।

सगे भाईयों की मदद से वसूलती थी मोटी रकम, तीन गिरफ्तार

इतना ही नहीं पैसे न देने पर आरोपी पुलिस केस में फंसाकर जेल भेजवाने की धमकी देते थे। जिसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सर्विलांस टीम की मदद से आज गाजीपुर पुलिस ने उस वक्त महिला को गिरफ्तार कर लिया। जब युवती एक व्यापारी को बुलाकर उसे रुपयों के लिए धमका रही थी।
पुलिस की गिरफ्त में आई युवती की पहचान डिंपल निवासी हथुआ थाना मीरगंज जनपद गोपालगंज बिहार के रूप में हुई। जो पिछले कुछ समय से अपने दो भाइयों नीरज तथा आशुतोष के साथ गाजीपुर थानाक्षेत्र अन्तर्गत निवास कर रही थी। पुलिस ने दोनों भाइयों को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक महिला फेसबुक के मैसेंजर के माध्यम से बड़े-बड़े व्यापारियों को अपने जाल में फंसाती थी। जिसके बाद उसके दोनों भाई वकील बनकर व्यापारियों को रुपयों के लिए ब्लैकमेल करते थे।

महिला बोली दुकानदार ने फर्जी फंसाया

एसपीटीजी के मुताबिक, पुलिस अभी इनके द्वारा कितने और लोग शिकार हुए जिनकी पड़ताल में जुटी हुई है। फिलहाल पुलिस ने तीनों भाई बहन को न्यायालय के सुपुर्द किया यहां से न्यायालय ने उन्हें जेल दिया है। वहीं जब आरोपियों से बात की गई तो आरोपी महिला ने बताया कि उन्हें किसी मोबाईल दुकानदार के द्वारा फंसाया जा रहा है। क्योंकि हम लोगों ने उस दुकानदार से कुछ पैसे उधार लिया था। हालाकि असल मामला क्या हैं पुलिस इसकी जांच-पड़ताल कर रही है।
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/